सैलेड बनाते समय रखें इन 5 बातों का ख्याल, जल्दी कम होगी पेट की चर्बी

0 1,394
सैलेड को हमेशा वेट लॉस से जोड़ा जाता है,  लेकिन क्या ये हमेशा होता है? सैलेड असल में तभी काम करते हैं जब इन्हें सही तरीके से बनाया जाए। वर्ना इनका असर सही तरीके से नहीं होता है। ऐसे में क्यों न आज बात की जाए ऐसी टिप्स की जो हमेशा ही आपके सैलेड को वेट लॉस के लिए सही तरीके से बनाया जाए। कुछ सैलेड अगर सही से नहीं बने होते तो वो वजन बढ़ा भी सकते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण होता है कि इसमें हाई कैलोरी वाले इंग्रीडियंट्स मिले हुए होते हैं। ऐसे में आप हमेशा चाहेंगे कि ज्यादा भरपूर मात्रा में आपको सभी पोषक तत्व मिलें और साथ ही आपका वेट लॉस भी होता जाए।

ऑयल बेस्ड ड्रेसिंग चुनें

अब आप सोचेंगी कि ऑयल बेस्ड ड्रेसिंग वेट लॉस टिप्स के विपरीत होती है। फिर वो इसमें क्यों है। तो उसका सीधा सा कारण है कई न्यूट्रियंट्स जैसे विटामिन  A, D, E, और K बिना फैट के डायजेस्ट नहीं होते। इसलिए थोड़ा सा फैट भी जरूरी है।

हरी सब्जियों का रखें ध्यान

हर तरह की हरी सब्जी जरूरी है। जरूरी नहीं कि रोज़ाना एक ही तरह का सैलेड खाया जाए। किसी दिन ब्रॉकली, किसी दिन पालक तो किसी दिन मेथी को भी सैलेड में मिलाया जा सकता है। इसी के साथ, तुलसी या रोज़मेरी जैसी कोई हर्ब्स भी आप सैलेड में डाल सकती हैं। इससे आपकी सैलेड हाई कैलोरी वाली बनेगी और साथ ही साथ इसमें कई सारे फ्लेवर भी होंगे। हरी सब्जियां एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती हैं और ये आपकी सेहत में सुधार लाएंगी।

प्रोटीन का इस्तेमाल

सैलेड खाते समय भी प्रोटीन का इस्तेमाल जरूरी है। ऐसे में आप चिकन से लेकर टोफू या स्प्राउट्स तक सब कुछ डाल सकती हैं। आप चाहें तो अपने लिए टोफू या पनीर भी प्रोटीन के रूप में चुन सकती हैं। ऐसे में आपका सैलेड हेल्दी प्रोटीन से भरा हो सकता है। पर प्रोटीन डालते हुए ये ध्यान रखें कि कितना सामान डालना है। नहीं तो आप जरूरत से ज्यादा कैलोरी ले लेंगे।

हमेशा फ्रूट्स भी रखें डायट में शामिल

भले ही आप सैलेड खा रही हों, लेकिन आप हमेशा सब्जियों के साथ फ्रूट्स भी अपनी डायट में शामिल कर सकती हैं। फ्रूट्स खाना हमेशा अच्छा होता है और इससे आपको कई सारे विटामिन मिलते हैं। आप कई सैलेड रेसिपी ट्राई कर सकती हैं। जिससे आप अपने सैलेड को बोरिंग न होने दें। तो फिर क्यों न उस तरह की चीज़ों का ध्यान रखा जाए।

ब्रेड के टुकड़ों का न करें सेवन

आजकल तले हुए  ब्रेड के टुकड़े आसानी से उपलब्ध होते हैं जिन्हें आप अपने डायट का हिस्सा बना लेते हैं। ये सूप में भी अक्सर डाले जाते हैं। सूप की रेसिपी में भी इसका इस्तेमाल होता है और ऐसा ही सैलेड में भी होता है। व्हाइट ब्रेड क्रूटॉन्स हमेशा ब्लड शुगर हाई करने का खतरा रहते हैं। इसके अलावा, इनमें कम न्यूट्रिएंट्स होते हैं और बहुत हाई ग्लासेमिक इंडेक्स होता है। ऐसे में आप अपने लिए अगर क्रंची सैलेड बनाना चाहती हैं तो कई सारे नट्स या सीड्स जोड़ सकती हैं उनमें।

4/5 (1 Review)
Comments
Loading...