इस बार दिवाली पर 59 साल बाद अद्भुत योग, पूजन शाम 5.27 से

0 1,344

59 साल बाद दिवाली पर कई लाभकारी संयोग बन रहे हैं। गुरु और शनि का दुर्लभ योग बन रहा है। दिवाली पर देव गुरु बृहस्पति, मंगल के स्वामित्व वाली वृश्चिक राशि में रहेंगे। वहीं, त्रिग्रही और आयुष्मान, सौभाग्य योग के कारण दीपावली व्यापार, राजनीति और नौकरी करने वालों के लिए अधिक मंगलकारी होगी। उद्योग जगत को दिवाली पर ग्रहों का गिफ्ट मिलेगा। व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर दिवाली पूजन के कई मुहूर्त हैं।

<strong>पूजा का समय- घरों पर दिवाली के पूजन का मुहूर्त </strong>

पूजा का समय- घरों पर दिवाली के पूजन का मुहूर्त 

बुधवार को सायं 5.27  बजे से 8.06  बजे है।
यह अवधि 1 घंटा 59 मिनट यानी लगभग दो घंटे रहेगी।

Comments
Loading...