बसंत पंचमी हैं 10 फ़रवरी को भूलकर भी ना करें ये 5 काम

0 3,121

बसंत पंचमी यानी सरस्वती पूजा का पर्व इस साल 10 फरवरी को मनाया जाएगा। इस दिन बुद्धि की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती की पूजा करने से मुश्किल से मुश्किल मनोकामना पूरी होती है। पौराणिक मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन ही देवी सरस्वती प्रकट हुई थीं। इसलिए बसंत पंचमी में मां सरस्वती के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। आज के दिन विद्धार्थी, कलाकार, संगीतकार और लेखक आदि मां सरस्वती की उपासना करते हैं। स्वरसाधक मां सरस्वती की उपासना का उसने से स्वर प्रदान करने की प्रार्थना करते हैं।

शास्त्रों के अनुसार बसंत पंचमी की पूजा का विशेष विधि विधान है। बसंत पंचमी के दिन के लिए कई नियम बनाए गए हैं, जैसे- आज के दिन पीले या सफेद वस्त्र धारण करना चाहिए। मान्यता है कि बसंत पंचमी के नियमों का यदि पालन न किया जाए तो मां सरस्वती और पितृ रूठ सकते है। जानें क्या हैं ये नियम-

बसंत पंचमी को न करें ये पांच गलतियां- 

1- बसंत पंचमी को काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए। आज के दिन पीले वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है।
2- बसंत पंचमी के दिन मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। संभव हो तो आज के दिन स्नान और पूजा के बाद सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए।
3- बसंत पंचमी के  दिन पेड़-पौधों की कटाई नहीं करनी चाहिए।
4- बसंत पंचमी के दिन किसी से वाद-विवाद या क्रोध नहीं करना चाहिए। क्योंकि माना जाता है कि बसंत पंचमी को कलह होने से पितृों को कष्ट पहुंचता है।
5- बसंत पंचमी के दिन बिना नहाए कुछ भी नहीं खाना चाहिए। इस दिन नदी, सरोवर या पास के तालाब में स्नान करना चाहिए और मां सरस्वती की पूजा अराधना के बाद ही कुछ खाना चाहिए।

Comments
Loading...