बरसात में हरी पत्तेदार सब्ज‍ियां खाने से पहले यह बार अवशय सोचे

0 186

आपने अक्सर अपने घर में बड़ों को ये कहते सुना होगा कि बरसात में हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से परहेज करना चाहिए लेकिन अगर आप खा रहे हैं तो कोशिश कीजिए वो अच्छी तरह धुलकर, पकायी गई हो.

यूं तो हरी पत्तेदार सब्ज‍ियां खाना एक अच्छी आदत है लेकिन मॉनसून में इन्हें खाना खतरनाक भी हो सकता है. बरसात में अक्सर बादल छाए रहते हैं जिसके चलते पौधों को पर्याप्त धूप नहीं मिल पाती है. धूप नहीं मिल पाने के कारण इन पत्तों में कीटाणुओं के और बैक्टीरिया के पनपने की आशंका बढ़ जाती है.

बावजूद इसके अगर आपको लंच और डिनर में हरी पत्तेदार सब्ज‍ियां ही चाहिए तो सबसे पहले इन्हें अच्छी तरह धो लें. आप चाहें तो धोने वाले पानी में नमक भी मिला सकते हैं. इसके अलावा फिटकरी वाले पानी से भी सब्ज‍ियां धोना फायदेमंद रहता है. सब्ज‍ियों को अच्छी तरह धोने के बाद इनका पूरी तरह से पकना भी जरूरी है.

बरसात में क्यों दी जाती है ऐसी सलाह?

1. ये तो आपने भी देखा होगा कि बरसात का मौसम आते ही छोटे-छोटे कीड़े पनपना शुरू कर देते हैं. इस दौरान वातावरण में पर्याप्त नमी बनी रहती है. नमी भरा माहौल बैक्टीरिया के पनपने के लिए अनुकूल होता है. ऐसे में पत्त‍ियों पर भी बैक्टीरिया के पनपने की आशंका बढ़ जाती है. इन सब्ज‍ियों को खाने से पेट से जुड़ी प्रॉब्लम होने का खतरा बढ़ जाता है.

2. ज्यादातर हरी सब्ज‍ियां पानी वाले इलाकों में या दलदली जमीन में पैदा होती हैं. पानी में पैदा होने वाली इन सब्ज‍ियों से इंफेक्शन होने का खतरा बहुत अधिक होता है.

3. कोई भी सब्जी बाजार में आने पहले कई जगहों से होकर गुजरती है. बरसात में गंदगी ज्यादा बढ़ जाती है. जिससे इन सब्ज‍ियों के दूषित होने की आशंका भी बढ़ जाती है.

4. बरसात के मौसम में सब्ज‍ियों में कीड़े-मकोड़ों की भरमार होती है. ऐसे में इन्हें खाना बीमारियों को न्योता देने जैसा ही है.

5. बरसात के मौसम में अक्सर सब्ज‍ियां खराब हो जाती हैं या फिर उनका रंग दब जाता है. ऐसे में ज्यादातर दुकानदार इन सब्ज‍ियों में इंजेक्शन लगाकर उन्हें रंगते हैं. ये केमिकल हमारे लिए खतरनाक हो सकता है.

Comments
Loading...