क्यों खाना चाहिए हमें हाथों से खाना?

0 886

आजकल सभी जगहों पर चाहे वो घर हो या रेस्टोरेंट खाना खाने के लिए कांटे-छुरी का इस्तेमाल किया जाता है. यह पश्चिम से आई सभ्यता का असर है. भारतीय परंपरा के अनुसार तो हाथों से खाना खाने कहा जाता है. कांटा-छुरी से खाना खाने और हाथों से खाना खाने में बहुत अतंर पाया जाता है . इसका सीधा संबंध आपकी ऊर्जा से होता है.

पंच तत्वों का मेल
जब हम हाथों से खाना खाते हैं तो पंचतत्व से पंचतत्व का मेल होता है हाथों से ऊर्जा हमारे शरीर में आती है.

ज्ञान मुद्रा 
हाथों से खाना खाने पर यह ज्ञान मुद्रा बनाता है और इससे हमारा भोजन ऊर्जावान बनाता है.

हाथ धोने की आदत
हाथ से खाना खाने पर हम हाथ धोकर ही खाना खाते हैं. इससे हम अपने आप को बीमारियों से बचा सकते हैं.

मुंह नहीं जलता
हाथ से खाना खाने में कभी मुंह नहीं जलता, ऐसा इसलिए क्योंकि जब हम हाथ से खाने को छूते हैं उसका तापमान हमें पता चल जाता है.

स्पर्श का एहसास
स्पर्श अपने आपमें एक चिकित्सा है. हाथ से खाना खाने से हाथ, मस्तिष्क और पेट के बीच एक संबंध बनता है.

Comments
Loading...