ग्रीन कॉफी का सच – अवशय पढ़े और सभी को बताए

0 14,659

कभी आपने ग्रीन कॉफी के बारें में या फिर इसका सेवन किया है। इसका सेवन करने से आप कई बीमारियों से निजात पा सकते है। कैफीन के कारण कई लोग इसे पीना सही नहीं मानते है। लेकिन इससे आप अपना वजन आसानी से कम कर सकते है।

जानिए, क्या है ग्रीन कॉफी?
ग्रीन टी के चलन के साथ ही ग्रीन कॉफी को लेकर भी बहुत चर्चाएं की जाने लगी। यह असल में कच्चे, बिना सिके हुए कॉफी के बीज होते हैं। इन्हें इसी स्वरूप में पीसकर काम में लाया जाता है। चूंकि ये प्राकृतिक और कच्चे रूप में काम में लिए जाते हैं, इसलिए इसे ग्रीन कॉफी कहा जाता है।

शोध में ये बात सामने आई
कई शोध कोलोरोजेनिक एसिड के मेटाबॉल्जिम पर पड़ने वाले साकारत्मक प्रभावों को पुष्टि करते है। ग्रीन कॉफी के ऊपर एक शोध किया गया जिसमें प्रतिभागियों को दो सप्ताह तक ग्रीन कॉफी के सत्त की काफी मात्रा, दो सप्ताह कम मात्रा और दो सप्ताह तर प्लेसबो का सेवन करने के लिए कहा गया। हर डोज के बीच दो सप्ताह का ब्रेक दिया गया। जिके परिणाम में ये बात सामने आई कि ग्रीन कॉफी वजन कम करने में काफी फायदेमंद है। इसके साथ ही बॉडी मॉस अंडेक्स और बॉडी फैट परसेंटेज में भी काफी गिरावट आई थी।

  • अगर आप इसका सेवन खाली पेट रोजाना करें तो आपका वजन आसानी से कम हो सकता है। आमतौर में माना जाता है कि खाली पेट चाय या कॉफी पीने से आपको एसिडिटी जैसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती है।
  • शोधों के अनुसार अगर आप अपना वजन कम करना चाहते है और डाइट फॉलों नहीं करना चाहते है, तो आप ग्रीन कॉफी का सेवन करें।
  • इसका सेवन करने से आप एक माह में कम से कम 2 किलों वजन कम कर लेगें।
  • अगर आप रेगुलर रुप से इसका सेवन करेगें तो इसमें मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड आपकी आहार नली में शुगर की मात्रा को कम कर देगा। जिससे कारण फैट आसानी से जल्दी से खत्म हो जाता है।
  • इसमें मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड आपके मूड को अच्छा बना देती है। साइको फॉर्मेसी में एक शोध सामने आई। साल 2012 में एक शोध किया गया जिसके मुताबिक कैफीनयुक्त और कैफीन रहित दोनों ही कॉफी जिनमें इसमें मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड होता है। वह आपके मूड को सकारात्म बनाने में मदद करता है। खासतौर में अधिक उम्र वालों को जरुर फायदा करता है।

 

5/5 (1 Review)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.