Best Healthy and Vegetarian Recipes

बाजार जैसे कांजी वड़ा बनाने का सही और आसान तरीका

0 21,790

- Advertisement -

गजरो के इस मौसम में चलिए एक नई तारिक के डिश बनते है कांजी वड़ा। खट्टी खट्टी कांजी के साथ मुंग दाल के वड़े का कॉम्बिनेशन इतना मस्त है की पीने के साथ साथ पेट की भूख भी शांत हो जाती है। तो चलिए बनाते है चीनी के जार में कांजी और लेते है गजर के सारे पोषक तत्व और बनाते है आपने आप को हेल्थी।

कांजी वड़ की सामग्री

  • मध्यम गाजर – 3 
  • पानी – 5 कप
  • राई – 2 चम्मच
  •  मूंग दाल – 2/3 कप
  • हरी मिर्च – 2/3 मध्यम
  • रिफाइंड तेल – 2/3 कप
  • हींग – 1 पिंच 
  • लाल मिर्च पाउडर – 2/3 चम्मच 
  • काला नमक – 2/3 चम्मच
  • गरम मसाला – 2/3 चम्मच
  • नमक – आवयशकतानुसार 

तैयारी का समय : 10 मिनट

खाना बनाने का समय : 40 मिनट  

कुल समय : 45 मिनट

विधि 

स्टेप 1 गाजर को धोकर काट ले।
सबसे पहले काली काली मोटी गजार ले और गजार को अच्छी तरह पानी से धो ले। (नोट : ज्यादा केडी गजार नहीं लेनी है) फिर चाकू से हलका सा गजार को ऊपर से छीन ले, छीन लेने के बाद लंबे टुकड़ों में गजार को काट लीजिये और एक प्लेट में रख लीजिये।
स्टेप 2 चीनी के जार में कांजी का पानी बना ले।
अब आप एक चीनी मिटटी या कांच का जार लीजिये और उसमे कटी हुई सारी गाजर डाल दे। फिर उसमे आवयशकतानुसार पानी, नमक, राई, हींग, काला नमक और लाल मिर्च पाउडर डाल दे और अच्छी तरह चमचे से सारे मिश्रण को मिला दे। जार को उठाकर धुप वाले स्थान पर लगभग 3 से 4 दिन तक रख दे और मलमल के कपड़े या किसी साधारण कपडे के जार के मुँह को ढक दे। जार के पानी को हर रोज कम से कम 2 दिन में बार चमचे से चलए। 3 दिन बाद पानी का स्वाद चक्ख कर देखे अगर पानी स्वाद में खट्टा खट्टा लगा रहा है तो कांजी पिने के लिए तैयार है।
स्टेप 3 मुंग डाल के वड़े बना ले।
मुंग की दाल को रात भर पानी के पतीले में भिगो कर रख दे और सुबह पानी से 3 से 4 बार निथार ले अच्छी तरह और दाल को छलनी की साहयता से पानी से अलग कर दे। अगर आप छिलके वाली इस्तेमाल कर रहे है तो अच्छी तरह पहले रगड़ दे। अब मिक्सी का जार ले और दाल को दरदरा पीस ले अगर जरूरत हो तो थोड़े से पानी का इस्तेमाल करे। दाल क पीसने के बाद एक कटोरे ने निकल ले और उसमे नमक ,हींग, गरम मसाला और हरी बरिक कटी हुई मिर्च दाल दे और चम्मच से अच्छी तरह सारे मिश्रण को मिक्स कर ले और सारे मिश्रण के पकोड़े बना ले। कांजी के पानी में वढे डाल दे। कांजी वड़ तैयार है।

पोषण संबंधित जानकारी

  • कैलोरी: 91kcal 
  •  कार्बोहाइड्रेट: 15 ग्राम
  •  प्रोटीन: 6g 
  • वसा: 1 ग्राम
  •  सैचुरेटेड फैट: 1g 
  • सोडियम: 1359mg
  •  पोटेशियम: 250mg
  •  फाइबर: 8g 
  •  चीनी: 1 ग्राम 
  •  विटामिन ए: 100IU 
  •  विटामिन सी: 1mg 
  •  कैल्शियम: 15mg
  •  आयरन: 2mg

- Advertisement -

खाने के स्वास्थ्य लाभ

वजन घटाने में मदद करता है

क्या आप अधिक वजन की समस्या से जूझ रहे हैं? खैर, सबसे अच्छी चीजों में से एक जो आप कर सकते हैं वह है वजन घटाने के लिए गाजर या गाजर का रस शामिल करना। ऐसा इसलिए है क्योंकि गाजर आपको लंबे समय तक तृप्त महसूस करने में मदद करती है और भूख के दर्द को भी दूर करती है। इससे कम कैलोरी का सेवन हो सकता है और इस प्रकार वजन कम करने में मदद मिलती है।

पाचन में सुधार करता है

काली गाजर आहार फाइबर में अत्यधिक उच्च है जो शरीर के पाचन तंत्र में सुधार करता है। यह गैस, सूजन,  कब्ज और दस्त के इलाज में मदद करता है। काली गाजर से बना “कांजी” नामक एक जूस स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को बढ़ावा देता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है

गाजर के रस और गाजर के कई लाभों में से एक यह है कि वे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में बहुत फायदेमंद होते हैं। यदि आप नियमित रूप से गाजर का सेवन करते हैं, तो यह आपको बेहतर और मजबूत प्रतिरक्षा बनाने में मदद करता है।

परोसने के प्रकार :

  • कांजी को एक बाउल में डालकर और उसके ऊपर वड़, भुना हुआ जीरा पाउडर और धनिया डालकर परोसे।
    वड़े में गर्म मसाला और कदूकस किया हुआ अदरक भी डाल सकते है।
    सूखा वड़ कांजी के गिलास के साथ भी परोस सकते है।

स्वाद में बदलाव :

  • उड़द की दाल भी डाल कर पकोड़े बना सकते है।
    खटास को और बढ़ने के लिए इमली का इस्तेमाल करे
    लाल गाजर से भी कांजी बना सकते है।

- Advertisement -

Now Read Recipes in English Also Click Here

Leave A Reply

Your email address will not be published.