भारतीय व्यंजनों की आसान रेसिपी

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मददगार है करेले का अचार, इस तरह बनाएं

0 672

करेला स्वाद में भले ही कड़वा हो लेकिन सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है. करेले की सब्जी ही नहीं अचार भी बनाकर खाया जाता है. करेले का अचार (Bitter Gourd Pickle) ब्लड शुगर कंट्रोल रखने में मददगार होता है. ऐसे में डायबिटीज के मरीजों के लिए करेले का अचार इसे खाने का एक बेहतरीन तरीका हो सकता है. कई लोगों को करेले की सब्जी भले ही नहीं भाती हो लेकिन अगर उन्हें करेले का अचार परोस दिया जाए तो वे उसे चाव से खा लेते हैं.

करेले का अचार बनाने के लिए सामग्री
करेले – 1/2 किलो
राई – 4 टी स्पून
जीरा – 2 टी स्पून
मेथीदाना – 2 टी स्पून
अजवाइन – 1 टी स्पून
हींग – 1/4 टी स्पून
हल्दी – 1 टी स्पून
सौंफ पाउडर – 2 टी स्पून
लाल मिर्च पाउडर – 1/2 टी स्पून
गरम मसाला – 1/2 टी स्पून
सिरका – 1/4 टी स्पून
सरसों का तेल – 1/2 टी स्पून
काला नमक – 1 टी स्पून
सादा नमक – 3 टी स्पून (स्वादानुसार)

करेले का अचार बनाने की विधि
करेले का अचार बनाने के लिए सबसे पहले करेले लेकर उन्हें साफ पानी में 2-3 बार अच्छी तरह से धोएं. इसके बाद करेले सुखाने के लिए रख दें. जब करेले सूख जाएं तो उनके दोनों ओर के डंठल को काटकर अलग कर दें. अब करेले के पतले-पतले गोल टुकड़े काट लें. कटे हुए करेले एक बाउल में डालकर उसमें एक चम्मच नमक डालकर मिला दें और आधा घंटे के लिए ढककर रख दें.

आधा घंटे बाद करेले लेकर उन्हें दोबारा दो बार अच्छी तरह से धो लें. इसके बाद करेले को सूथी कपड़े पर रखकर 1-1.30 घंटे के लिए सूखने रख दें. तय समय के बाद करेले को अच्छी तरह से पोछ लें. अब एक कड़ाही लें और उसे मीडियम आंच पर गर्म करने के लिए रख दें. इसमें जीरा, मेथी दाना, अजवाइन डालकर लाइट ब्राउन होने तक ड्राई रोस्ट कर लें. इसके बाद इन मसालों को ठंडा कर दरदरा पीस लें.

अचार बनाने के लिए अब एक कड़ाही में सरसों का तेल डालकर मीडियम आंच पर गर्म करने के लिए रख दें. इसके बाद तेल में हींग और करेले डाल दें. ऊपर से हल्दी पाउडर डालकर अच्छे से मिलाएं और करेले 4-5 मिनट तक भूनें जिससे वे ठीक से नरम हो जाएं. इसके बाद गैस बंद कर सारे भुने मसाले डालकर मिक्स कर दें. इसके बाद सौंफ पाउडर, काला नमक, गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर, सिरका और स्वादानुसार नमक डालकर ठीक से मिला दें. स्वाद और पौष्टिकता से भरपूर करेले का अचार बनकर तैयार है. इस अचार को कांच के जार में भरकर स्टोर किया जा सकता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.