कल बन रहा है बहुत ही खास नक्षत्र, करोड़पति बनने के लिए राशिनुसार करें ये उपाय

0 210

मूल नक्षत्र है और यह नक्षत्र आज रात 10:33 तक रहेगा। ‘प्रश्नव्याकरणांग’ के अनुसार प्रत्येक हिन्दू माह की पूर्णिमा के हिसाब से भी नक्षत्रों का वर्गीकरण किया गया है। फिलहाल ज्येष्ठ मास चल रहा है और ज्येष्ठ मास का विशेष नक्षत्र मूल है। अतः जिन बच्चों का जन्म 27 नक्षत्रों में से केवल मूल नक्षत्र में हुआ हो, उनके लिये आज शुभ संयोग है।

मूल शांति क्या है ? आपने कई बार बच्चों के जन्म के वक्त सुना होगा कि बच्चा मूलों में हुआ है, इसकी मूल शांति करवानी पड़ेगी, अन्यथा बच्चा भविष्य में आगे चलकर अपने परिवार की परेशानियों का कारण बन सकता है। यह बात बिल्कुल सही है और इसी कारण से मूल शांति करायी जाती है। दरअसल 6 प्रकार के मूल या मूल संज्ञक होते हैं- अश्विनी, आश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा, रेवती और मूल। देखिये यहां मूल में एक ‘मूल’ नाम का नक्षत्र भी है। वास्तव में अश्विनी, आश्लेषा, मघा, ज्येष्ठा, रेवती और मूल, इन 6 नक्षत्रों को मूल कहते हैं और जो इस लिस्ट में मूल आता है, वह मूल नक्षत्र है, जिसका पूरा नाम मूलबर्हणी है, लेकिन इस नाम को बोलने में कठिनाई महसूस होने के कारण लोग इसे केवल मूल कह देते हैं। जिन बच्चों का जन्म इन 6 नक्षत्रों में से किसी भी एक नक्षत्र में हुआ हो, उस बच्चे को मूलों में जन्मा हुआ माना जाता है और ऐसे बच्चे की मूल शांति करवाना अनिवार्य होता है।

मेष राशि

अपनी भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्धि के लिये आज के दिन भगवान श्री गणेश की उपासना करें और ‘गं गणपतये नमः’ मंत्र का 21 बार जाप करें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी भौतिक सुख-सुविधाओं में निश्चित ही वृद्धि होगी। उस धागे को बदल भी सकते हैं। आज के दिन ये उपाय करने से आपको जल्दी ही अपने करियर में सफलता मिलेगी।

वृष राशि
अपने करियर में सफलता पाने के लिये आज के दिन मूल नक्षत्र में अपने दाएं पैर के अंगूठे में एक सफेद रंग का धागा पहनें और उसे पहने रखें। खराब होने पर आप उस धागे को बदल भी सकते हैं।  आज के दिन ये उपाय करने से आपको जल्दी ही अपने करियर में सफलता मिलेगी।

Comments
Loading...