वास्तुशास्त्र के अनुसार घर के किचन में भूलकर भी ना करें यह काम

0 4,691

किचन घर का वह हिस्सा होता है जहां पर पूरे घर की सुख-समृद्धि और सेहत से जुड़ा रहने वाला स्थान होता है। वास्तु में भी किचन के स्थान, दिशा और वहां पर मौजूद रहने वाली हर एक चीज के बारे में विस्तार से बताया गया है। किचन में वास्तुदोष होने से घर पर हमेशा अशुभ छाया बनी रहती है। आइए जानते हैं वास्तुशास्त्र के अनुसार घर के किचन में किन-किन नियमों का पालन करना चाहिए।

-किचन में भूलकर भी मंदिर नहीं बनवाया जाना चाहिए। जिस घर के किचन में मंदिर होता है वहां पर हमेशा तनाव बना रहता है।

– किचन और बाथरूम का एक सीध में होना अशुभ माना जाता है। इससे घर पर नकारात्मकता पैदा होती है। जिसके कारण से घर के सदस्यों के बीच लड़ाई झगड़ा होता रहता है।

– घर के मुख्य दरवाजे के ठीक सामने किचन नहीं होना चाहिए। वास्तुशास्त्र में इसे अशुभ माना जाता है।

– कभी भी किचन में बिना नहाए प्रवेश नहीं करना चाहिए वास्तु शास्त्र में इसे अशुभ माना जाता है।

– घर से वास्तु दोष को दूर करने के लिए हमेशा भोजन का पहला हिस्सा भगवान और गाय को समर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से वास्तु दोष में कमी आती है।   

Comments
Loading...