Best Healthy and Vegetarian Recipes

लाल मिर्च का टेस्टी भरवाँ अचार

सर्दियों में अचार बनाने के लिए थोड़ी मोटी और कम तीखी गीली लालमिर्च आसानी से मिल जाती है। इन्हें बनारसी लालमिर्च  भी कहते है।

0 29,016

- Advertisement -

लालमिर्च का अचार  देखते ही मुंह मे पानी आ जाता हैं । रोटी , परांठा , पूरी या दाल चावल के साथ गीली लालमिर्च का यह अचार बहुत स्वादिष्ट लगता है। यह अचार भोजन को रुचिवर्धक और पाचक बनाता है ।

सर्दियों में अचार बनाने के लिए थोड़ी मोटी और कम तीखी गीली लालमिर्च आसानी से मिल जाती है। इन्हें बनारसी लालमिर्च  भी कहते है।

लालमिर्च के अचार की सामग्री

( किसी भी लाल रंग से लिखे शब्द पर क्लिक करके उसके फायदे नुकसान जा सकते हैं )

लालमिर्च                      1 किलो

राई                              100  ग्राम

सौंफ                            100  ग्राम

मेथी                               50 ग्राम

हल्दी                             20 ग्राम

अमचूर पाउडर               2 चम्मच

लालमिर्च पाउडर             2 चम्मच

हींग                              1/2 चम्मच

कलोंजी                          1 चम्मच

नमक                          100 ग्राम

विनेगर                        2 चम्मच

तेल                             250 ml

लालमिर्च का अचार बनाने की विधि

— लालमिर्च को धोकर कपड़े से पोंछ लें और लगभग दो घंटे कपड़े पर फैलाकर रखें ताकि मिर्च पर पानी पूरी तरह सूख जाए ।

— सूखने पर चाकू की मदद से सावधानी पूर्वक डंठल व अंदर के बीज निकाल दें या मिर्ची को बीच से कट / चीरा लगाकर बीज निकाल दें । (अपनी पसन्दनुसार)

— अचार का मसाला बनाने के लिए मेथी , राई व सौंफ को अलग अलग हल्का सा भून ले ताकि सारी नमी निकल जाए ।ठंडा होने पर मेथी , राई व सौंफ को दरदरा पीस लें ।

- Advertisement -

— एक बड़े बर्तन में एक कटोरी तेल गरम करें। गैस बंद कर दें। इसमे हींग डाल दें और तेल थोड़ा ठंडा होने दें।

— जब तेल गुनगुना हो तब कलोंजी , दरदरी पिसी हुई राई , सौंफ व मेथी तथा नमक डाल कर मिक्स कर दें ।

— इसके बाद हल्दी , लालमिर्च और अमचूर पाउडर डालें ।

— पूरा ठंडा होने पर इसमे विनेगर मिक्स कर दें। यह मसाला लालमिर्च में भरने के लिए तैयार है ।

— बीज निकली हुई गीली लालमिर्च मे यह मसाला थोड़ा दबाकर भर दें ।

— ये लाल मिर्च किसी चोड़े मुँह के कंटेनर में रखें ताकि इन्हे हिलाया जा सके।

— सावधानी के साथ लालमिर्च का अचार दिन में दो बार हिला दें । मसाला बाहर ना निकले इसका ध्यान रखें।

— चार पांच दिन मे अचार बनकर तैयार हो जायेगा । स्वादिष्ट लालमिर्च के अचार का आनंद उठायें।

— यह अचार लम्बे समय तक काम में लेने के लिए एक साफ व सूखी कांच की बरनी में ये मिर्च भरकर तेल डाल दें। इसके लिए तेल को गर्म करें फिर ठंडा करें फिर अचार में डालें। मिर्च पूरी तरह तेल में डूबी जानी चाहिए।

लालमिर्च के अचार सम्बन्धी टिप्स

— लालमिर्च का अचार बनाने के लिए लाल मिर्च ताजी ओर सीधे आकार की लेनी चाहिए ताकि मिर्च में मसाला आसानी से भरा जा सके।

— बहुत बड़ी साईज की मिर्ची नहीं लें मीडियम साईज की लें।

— मसाला भरने के लिए मिर्च पर बगल में चीरा लगा सकते हैं या डंठल हटाकर बीज निकालकर ऊपर से भी मसाला भर सकते हैं ।

— लालमिर्च का अचार मे मसाला दबा कर भरने की कोशिश करनी चाहिए लेकिन मिर्च टूट न जाये यह भी ध्यान रखना चाहिए।

— खटाई के लिए अमचूर की जगह नींबू का रस भी डाला जा सकता है।

— आप चाहें तो विनेगर / सिरका ना डालें लेकिन थोडा सिरका होने से अचार खराब नहीं होता ओर खटाई अच्छी होने से स्वाद अच्छा आता है।

— चार पांच दिन बाद तेल गरम करके ठंडा करे व अचार मे ऊपर तक भरकर रखने से खराब नहीं होगा ।

— फ्रिज मे रखने पर यह अचार बिना तेल के भी एक महीने तक काम में लिया जा सकता हैं ।

— अचार को बरनी में भरना चाहें तो बरनी को साफ करके अच्छे से सुखा लें , फिर भरें।

— जब तक अचार मे तेल नहीं डाला जाये तब तक रोजाना सूखे चम्मच से दो बार अचार हिला देना चाहिए। इससे अचार खराब नहीं होगा ।

- Advertisement -

Now Read Recipes in English Also Click Here

Leave A Reply

Your email address will not be published.