जपे शनिदेव का ये मंत्र, दुनियां की सभी मुसीबतें रहेंगी दूर

0 783
मुसीबत कभी बताकर नहीं आती हैं. ये जब आती हैं तो बड़े बड़े लोगो को भी तबाह कर जाती हैं. आप में से शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसके जीवन में कभी कोई मुसीबत आई ही नहीं हैं. जीवन में सुख और दुःख का आना जाना तो लगा ही रहता हैं. हालाँकि कई बार कुछ ख़ास मुसीबतें हमारी लाइफ से फेविकोल की तरह चिपक जाती हैं और फिर निकलने का नाम ही नहीं लेती हैं. ऐसे में इंसान इस मुसीबत से तंग आ जाता हैं और हर हाल में छुटकारा पाना चाहता हैं. जरा सोचो कितना अच्छा होता ना यदि हमारे जीवन में कभी कोई बड़ी परेशानी आती ही ना. अब ऐसा चमत्कार तो सिर्फ भगवान ही कर सकते हैं. भगवानो में भी मुसीबत और समस्याओं से बचने का डिपार्टमेंट शनिदेव के पास ही होता हैं.

शनिदेव अक्सर अपने क्रोध और आशीर्वाद दोनों के लिए ही जाने जाते हैं. कहते हैं कि शनिदेव का गुस्सा जितना खतरनाक होता हैं उनका आशीर्वाद उससे भी ज्यादा लाभकारी होता हैं. एक बार जो व्यक्ति शनिदेव को प्रसन्न करने में कामयाब हो जाती हैं उसके जीवन की सभी परेशानियां स्वतः ही समाप्त हो जाती हैं. इतना ही नहीं भविष्य में भी उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाता हैं.

शनिदेव का हाथ आपके सिर पर होने के बाद कोई आपका बाल भी बाका नहीं कर सकता हैं.  हालाँकि शनिदेव को प्रसन्न करना इतना आसान भी नहीं होता हैं. कई लोग हर शनिवार ये प्रयत्न करते हैं लेकिन इनमे से सिर्फ कुछ ही सफल हो पाते हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको शनिदेव का आशीर्वाद प्राप्त करने का एक बेहतरीन उपाय बताने जा रहे हैं.

इस उपाय के तहत आपको एक ख़ास विधि और अंदाज़ में शनि मंत्रों का जाप करना होगा. यदि आप इसे सटीक तरीके से करते हैं तो हमेशा के लिए शनिदेव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं.शनिदेव पूजा विधि एवं मंत्र

इस उपाय के तहत आप शनिवार के दिन स्नान कर शनिदेव के सामने सरसों के तेल का एक दीपा लगा दे. अब शनिदेव की आरती करे.

इसके बाद उनके सामने माथा टेक अपनी समस्यां बताए. अब शनिदेव के सामने एक पाँव पर खड़े हो जाए. इसके बाद इन पांच मंत्रों का जाप बारी बारी से 7 बार करे. ये मंत्र हैं – ऊँ श्रां श्रीं श्रूं शनैश्चाराय नमः।

ऊँ हलृशं शनिदेवाय नमः। ऊँ एं हलृ श्रीं शनैश्चाराय नमः। ऊँ मन्दाय नमः।। ऊँ सूर्य पुत्राय नमः।।  ये मंत्र जाप आपको शनिवार के दिन इसी विधि से दिन में दो बार (सुबह और शाम) करना हैं. इस दिन आपको शनिदेव के नाम का व्रत भी रखना हैं.

इसके साथ ही आप चाहे तो शनि मंदिर में जाकर सरसों का तेल भी शनिदेव को चढ़ा सकते हैं. हालाँकि ये उपाय वैकल्पित हैं. अपने जीवन से परेशानियों को दूर रखने के लिए आप यह मंत्र हर शनिवार या महीने में कम से कम एक बार जप सकते हैं. इससे आपके जीवन के सभी कष्ट और परेशानियाँ नष्ट हो जाएंगे. यदि आपको ये जानकारी अच्छी लगे तो इसे दूसरों के साथ भी शेयर करे ताकि वे भी इससे लाभान्वित हो सके.

Comments
Loading...